इरेक्टाइल डिस्फंक्शन से छुटकारा: नेचुरल वियाग्रा का जूस है रामबाण इलाज l Erectile dysfunction: Natural Viagra juice


 

40% पुरुषों को इरेक्टाइल डिस्फंक्शन (ईडी) की समस्या होती है। यह समस्या भविष्य में और भी ज्यादा लोगों को हो सकती है। इरेक्टाइल डिस्फंक्शन एक ऐसी समस्या है जो बहुत परेशानी देती है, खासकर उम्र बढऩे के साथ। आमतौर पर जब यह समस्या होती है, तो लोग डॉक्टर के पास जाते हैं। डॉक्टर कुछ दवाइयां देते हैं, जो अगर काम करती हैं तो अच्छा होता है। अगर दवाइयां काम नहीं करतीं, तो लोग सोचते हैं कि यह उम्र बढऩे का असर है और इसे स्वीकार कर लेते हैं। इरेक्टाइल डिस्फंक्शन का असली कारण क्या है, इसे जानना जरूरी है ताकि इसका सही इलाज किया जा सके। 


इरेक्टाइल डिस्फंक्शन कैसे होता है?

इरेक्टाइल डिस्फंक्शन तब होता है जब पेनिस में ब्लड फ्लो सही से नहीं होता। पेनिस के अंदर दो कॉरपोरा कैवर्नोसा नाम की लंबी ट्यूब्स होती हैं। इन ट्यूब्स में खून की धमनियों का एक नेटवर्क होता है। जब आप उत्तेजित होते हैं, तो इन धमनियों में तेजी से खून भरता है, जिससे पेनिस में इरेक्शन होता है। अगर इन धमनियों में कोई समस्या होती है, तो इरेक्शन नहीं हो पाता।


READ MORE: 25 से 35 साल की उम्र में शुगर होने का खतरा और भविष्य में बचाव के उपाय


नाइट्रिक ऑक्साइड की भूमिका

नाइट्रिक ऑक्साइड एक ऐसा पदार्थ है जो इन धमनियों को फैलाता है और इरेक्शन में मदद करता है। वियाग्रा भी इसी नाइट्रिक ऑक्साइड पर काम करती है। हम अपने शरीर में नाइट्रिक ऑक्साइड की मात्रा बढ़ाकर इरेक्टाइल डिस्फंक्शन से बच सकते हैं।


READ MORE: ई-सिगरेट पीने वाले हो जाए सावधान: स्टडी में दावा; फेफड़ों में होती है गंभीर बीमारी


प्राकृतिक उपाय: नाइट्रिक ऑक्साइड बढ़ाने वाला जूस

एक जूस का नुस्खा जिसे आप रोजाना पी सकते हैं। यह जूस नाइट्रिक ऑक्साइड की मात्रा बढ़ाता है और इरेक्टाइल डिस्फंक्शन को ठीक करने में मदद करता है। इस जूस को पीने से आपको भविष्य में वियाग्रा की जरूरत नहीं पड़ेगी और अगर अभी इरेक्टाइल डिस्फंक्शन है, तो यह उसे ठीक करने में मदद करेगा।


READ MORE: जिद्दी शराब को छोड़ने अपनाये स्टेप बाय स्टेप तरीका


चुकंदर का जूस

चुकंदर में नाइट्रिक ऑक्साइड होता है। एक स्टडी में पाया गया कि चुकंदर का जूस पीने से नाइट्रिक ऑक्साइड का लेवल 21% बढ़ गया। यह नाइट्रिक ऑक्साइड का लेवल बढ़ाने का 45 मिनट के अंदर असर दिखाता है।


READ MORE: कैसे ओवरलोडिंग का शिकार हो रहा हमारा ब्रेन, इस प्रकार करे अपने ब्रेन को डिटॉक्स


तरबूज का जूस

तरबूज में साइट्रोलीन होता है जो नाइट्रिक ऑक्साइड बनाता है। 300 मिलीलीटर तरबूज का जूस पीने से दो हफ्तों में नाइट्रिक ऑक्साइड का स्तर बढ़ता है। तरबूज के जूस से शरीर में पानी की मात्रा भी बढ़ती है, जो इरेक्टाइल डिस्फंक्शन को ठीक करने में मदद करता है।


READ MORE: डेंगू बुखार: कारण, लक्षण, इलाज और घरेलू उपचार


हरी सब्जियां

हरी सब्जियों में नाइट्रेट्स होते हैं जो नाइट्रिक ऑक्साइड में बदलते हैं। स्पिनच, लेट्यूस जैसी सब्जियाँ इसमें बहुत मददगार हैं। हरी सब्जियों में एंटीऑक्सीडेंट्स भी होते हैं जो धमनियों को खोलते हैं और ब्लड फ्लो को बेहतर बनाते हैं।


READ MORE: सावधान! सर्दियों में कहीं आपके इन अंगों का रंग बदल तो नहीं रहा, जानिए इस गंभीर रोग के कारण, लक्षण और इलाज


नट्स और अनार

बादाम, अखरोट और अनार में एंटीऑक्सीडेंट और ओमेगा 3 फैटी एसिड होते हैं जो ब्लड फ्लो को बेहतर बनाते हैं। यह नट्स और अनार धमनियों को मजबूत करते हैं और इरेक्शन में मदद करते हैं।


जूस बनाने की विधि

इन सभी चीजों को मिलाकर एक जूस बनाएं और रोज सुबह पिएं। इस जूस को बनाने के लिए 


1. एक चुकंदर लें और उसका जूस निकालें।

2. एक तरबूज लें और उसका जूस निकालें।

3. कुछ हरी सब्जियां जैसे स्पिनच, लेट्यूस मिलाएं।

4. बादाम और अखरोट डालें।

5. अनार के दाने मिलाएं।


इन सभी चीजों को मिलाकर मिक्सी में चलाएं और रोज सुबह इस जूस को पिएं। यह जूस नाइट्रिक ऑक्साइड की मात्रा बढ़ाएगा और आपकी इरेक्शन समस्याओं को दूर करेगा।


निष्कर्ष

अगर आप यह जूस नियमित रूप से पिएंगे, तो आपको भविष्य में वियाग्रा की जरूरत नहीं पड़ेगी। यह एक प्राकृतिक वियाग्रा का काम करेगा। अगर आपको अभी इरेक्टाइल डिस्फंक्शन है, तो नाइट्रिक ऑक्साइड की मात्रा बढऩे से यह समस्या ठीक हो सकती है। दवाइयों के साथ भी यह जूस इरेक्शन को बेहतर बनाने में मदद करेगा।


READ MORE: अपनी त्वचा के लिए सही सनस्क्रीन का चुनाव कैसे करे... कब, कितना और कैसे अप्लाई करें सनस्क्रीन


READ MORE: स्मार्टफोन कैसे हमारी सेहत को कर रहा खराब... जानिए कितने घंटे मोबाइल चलाना है सेफ

Tags

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.